सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकॉनमी (CMIE) के अनुसार शहरी बेरोजगारी दर अप्रैल में 9.22%, मई में 8.21% और जून 2022 में 7.3% रही. CMIE Data for Q1FY23 : बेरोजगारी के मोर्चे पर अच्छी खबर है. सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकॉनमी (CMIE) के ताजा आंकड़ों के मुताबिक देश में शहरी बेरोजगारी की दर में लगातार तीसरे महीने गिरावट देखने को मिली है. मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही यानी अप्रैल-जून 2022 के दौरान शहरी देश में हर उम्र के लोगों के लिए शहरी बेरोजगारी की दर 7.6 फीसदी रही. शहरी बेरोजगारी की यह दर अप्रैल में 9.22%, मई में 8.21% और जून 2022 में 7.3% रही थी.

अप्रैल-जून 2022 के आंकड़ों की तुलना पिछले साल की इसी तिमाही से करने पर भी बेरोजगारी के मामले में पॉजिटिव ट्रेंड नजर आ रहा है. अप्रैल-जून 2021 के दौरान देश में हर उम्र के लोगों के लिए शहरी बेरोजगारी की दर 12.7 फीसदी रही थी. जनवरी-मार्च 2022 में यह दर 7.8 प्रतिशत दर्ज की गई थी. बेरोजारी के ये आंकड़े कोरोना महामारी के दौर के मुकाबले तो काफी बेहतर हैं, जब देश भर में पूरी तरह से लॉकडाउन होने के कारण अप्रैल-जून 2020 में शहरी बेरोजगारी दर बढ़कर 20.9 फीसदी पर पहुंच गई थी.

सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय (MoSPI) द्वारा हर तीन महीनों में जारी किये जाने वाले लेबर फोर्स पार्टिसिपेशन सर्वे के मुताबिक चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही यानी अप्रैल-जून 2022 के दौरान शहरी क्षेत्र में रहने वाले 15-29 आयु वर्ग के करीब 18.9 फीसदी युवा बेरोजगार थे. हालांकि एक साल पहले की इसी अवधि में यानी अप्रैल-जून 2021 में यह दर 25.5 फीसदी और जनवरी-मार्च में 2022 में 20.2 फीसदी से कम थी.

झारखंड में भी बेरोजगारी दर घटी

झारखंड की बेरोजगारी दर एक महीने में 8.4 फीसदी घट गई है. दिसंबर 2021 में जहां राज्य की बेरोजगारी दर 17.3 फीसदी थी वहीं जनवरी 2022 में यह घटकर 8.9% पहुंच गई है. कोरोना काल में जुलाई 2020 के बाद पहली बार राज्य की बेरोजगारी दर 9 फीसदी से कम पहुंची है. वहीं पड़ोसी राज्य बिहार में जनवरी महीने में बेरोजगारी दर 13.3 फीसदी, छत्तीसगढ़ में 3.0 फीसदी, मध्यप्रदेश में 3.2%, ओडिशा में 1.8%, यूपी में 3.0%, उत्तराखंड में 3.5% और वेस्ट बंगाल में 6.4% फीसदी बेरोजगारी दर है. देश में सबसे कम बेरोजगारी दर तेलंगाना और गुजरात में दर्ज किया गया है. जनवरी महीने में तेलंगाना का बेरोजगारी दर 0.6% था, वहीं गुजरात का दर 1.0% था. CMIE की रिपोर्ट से यह बात सामने आई है. CMIE के मुताबिक 16 फरवरी 2022 तक देश की बेरोजगारी दर 7.6 फीसदी दर्ज की गई है. इसमें शहरी बेरोजगारी दर 7.7% और ग्रामीण बेरोजगारी दर 7.5% है.

2021 में झारखंड की बेरोजगारी दर

महीना बेरोजगारी दर
जनवरी 11.3%
फरवरी 12.2%
मार्च 12.8%
अप्रैल 16.5%
मई 16.0%
जून 12.7%
जुलाई 9.4%
अगस्त 16.0%
सितंबर 13.1%
अक्टूबर 18.1%
नवंबर 11.2%
दिसंबर 17.3%

2020 में झारखंड की बेरोजगारी दर

महीना बेरोजगारी दर
जनवरी 10.6%
फरवरी 11.8%
मार्च 8.2%
अप्रैल 47.1%
मई 59.2%
जून 20.9%
जुलाई 7.6%
अगस्त 9.8%
सितंबर 9.3%
अक्टूबर 11.8%
नवंबर 9.5%
दिसंबर 12.4%

जनवरी महीने में झारखंड की बेरोजगारी दर पड़ोसी राज्य बिहार के साथ-साथ देश के कई राज्यों की तुलना में कम हुई है. हालांकि कुछ पड़ोसी राज्यों की स्थिति झारखंड से बेहतर है.

Spread the information

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *