Category: समाज

जयंती : झारखंड के लको बोदरा ने ही की थी समृद्ध ‘हो’ भाषा के लिए वारंग क्षिति लिपि की खोज

“हो” भाषा के सुप्रसिद्ध साहित्यकार पंडित गुरुकुल लको बोदरा ने आदिवासी समाज के उत्थान के लिए अपना संपूर्ण जीवन समर्पित…

स्पेशल रिपोर्ट : मध्य प्रदेश में भीमबेटका गुफाओं में हज़ारों साल पुराने शैलचित्रों ( Rockart ) में दिखता आदि मानव का अतीत 

विकास कुमार मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से करीब 45 km दूर, दक्षिण पूर्व में स्थित भीमबेटका गुफाएं किसी भी…

कोल्हान का अद्भुत सौंदर्य, समृद्ध भाषा – संस्कृति एवं संघर्ष की शानदार विरासत से रूबरू होने का सबब बना दूसरा झारखंड साइंस फिल्म फेस्टिवल – 2022

डी एन एस आनंद 17 से 20 अगस्त तक कोल्हान क्षेत्र के चार केन्द्रों पर आयोजित दूसरा झारखंड साइंस फिल्म…

स्मृति दिवस पर देश ने डॉ नरेन्द्र दाभोलकर को याद किया और लिया गैर बराबरी, अंधविश्वास मुक्त, तर्कशील नए भारत के निर्माण का संकल्प

डी एन एस आनंद 20 अगस्त 2022 को ” डॉ नरेन्द्र दाभोलकर शहादत दिवस – वैज्ञानिक दृष्टिकोण दिवस ” के…

9 अगस्त, विश्व आदिवासी दिवस : बची हुई दुनिया को बचाने और बेहतर बनाने के संकल्प का दिन

विश्व आदिवासी दिवस आदिवासियों के मूलभूत अधिकारों की सामाजिक, आर्थिक और न्यायिक सुरक्षा के लिए प्रत्येक वर्ष  9अगस्त को मनाया…

दूसरा झारखंड साइंस फिल्म फेस्टिवल 17 से 20 अगस्त तक झारखंड के ऐतिहासिक क्षेत्र कोल्हान में निर्धारित

फिल्में जनसंचार का एक शक्तिशाली और प्रभावी माध्यम हैं जिससे हम, अपने क्षेत्र, देश और दुनिया में जनमुद्दों, समस्याओं और…

केंद्रीय आदिवासी मामलों के मंत्रालय ने स्वीकारा, सुधार के वाबजूद आदिवासी बच्चों में व्याप्त कुपोषण की स्थिति गंभीर

संसद के वर्तमान मानसून सत्र में चार सांसदों ने आदिवासी समुदायों से जुड़ा एक बेहद महत्त्वपूर्ण सवाल पूछा है। इस…

 रिटायर्ड शिक्षक ने केरल में बनाया एक ऐसा अनूठा मंदिर , जिसमें होती है भारत के संविधान की पूजा

विकास कुमार  करोड़ों देवी देवताओं वाला भारत देश, जहाँ हर गली चौराहे पर आपको धार्मिक स्थल दिख जाएगा, उस देश…

गर्भपात पर अमेरिका के सुप्रीम कोर्ट के फैसले का भारत पर भी हो सकता है असर, महिलाओं के अधिकार की रक्षा के लिए इसका विरोध जरूरी : एडवोकेट आराधना भार्गव

एडवोकेट आराधना भार्गव अमेरिका में सुप्रीम कोर्ट द्वारा गर्भपात से जुड़े पचास साल पुराने फैसले को पलट दिया गया है। निश्चय…

UN रिपोर्ट : दुनिया में 76.8 करोड़ कुपोषण के शिकार जिनमें 22.4 करोड़ (29%) भारतीय, यह कुल कुपोषितों की संख्या के एक चौथाई से भी अधिक

भारत दुनिया में दूध और दालों का सबसे बड़ा उत्पादक है जबकि चावल, गेहूं, सब्जियों, फलों और मछली का दूसरा…