3 जून तक कोविन पर मौजूद आंकड़ों के मुताबिक, आदिवासी बहुल जिलों में टीकाकरण कराने वाले लोगों का लिंग अनुपात भी बेहतर है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि आदिवासी बहुल जिलों में 10 लाख की आबादी पर कोविड-19 टीकाकरण राष्ट्रीय औसत से अधिक है और 176 आदिवासी बहुल जिलों में से 128 पूरे भारत के टीकाकरण कवरेज से अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और इन जिलों में अधिक लोग कोविन पर पहले पंजीकरण कराए बिना टीकाकरण केंद्र पहुंच रहे हैं.तीन जून तक कोविन पर मौजूद आंकड़ों के मुताबिक, आदिवासी बहुल जिलों में टीकाकरण कराने वाले लोगों का लिंग अनुपात भी बेहतर है. आदिवासी बहुल जिलों में प्रति 10 लाख की आबादी पर टीकाकरण 1,73,875 है जो राष्ट्रीय औसत 1,68,951 से अधिक है.

सरकार ने कहा कि राष्ट्रीय औसत की तुलना में आदिवासी बहुल जिलों में अधिक लोग कोविन पर पहले पंजीकरण कराए बिना (वॉक इन) टीकाकरण केंद्र आ रहे हैं.मंत्रालय ने कहा कि ये आंकड़े ग्रामीण-शहरी विभाजन के बारे में गलत धारणा को दूर करते हैं क्योंकि कोविन प्रणाली ग्रामीण क्षेत्रों में और विशेष रूप से देश के दूरदराज के हिस्सों में टीकाकरण रिकॉर्डिंग के लिए एक लचीला और समावेशी ढांचा प्रदान करती है.उसने कहा कि कोविन पर राज्यों द्वारा अब तक ग्रामीण या शहरी के रूप में वर्गीकृत कुल 69,995 टीकाकरण केंद्रों में से, 49,883 टीकाकरण केंद्र या 71 प्रतिशत ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित हैं.

मंत्रालय ने स्पष्ट किया कि टीकाकरण के लिए पहले से ऑनलाइन पंजीकरण कराना और टीका लगवाने के लिए पहले से समय लेना जरूरी नहीं है और 18 वर्ष से अधिक उम्र का शख्स सीधे अपने निकटतम टीकाकरण केंद्र जा सकता है जहां टीकाकरण करने वाले उनका वहीं पर पंजीकरण करेंगे और उसी वक्त उन्हें टीका भी लगाया जाएगा.मंत्रालय के मुताबिक, कोविन पर पंजीकरण कराने के कई माध्यम हैं जिनमें से एक ‘कॉमन सर्विस सेंटर्स’ (सीएससी) के जरिए पंजीकरण कराना है. उसने कहा कि 1075 हेल्पलाइन के जरिए पंजीकरण में सहायता की सुविधा भी दी जा रही है.मंत्रालय ने कहा कि 13 जून तक 28.36 करोड़ लोगों ने कोविन पर पंजीकरण कराया है जिनमें से 16.45 करोड़ या 58 प्रतिशत लोगों का पंजीकरण टीकाकरण केंद्र पर जाने के बाद हुआ है.

उसने कहा कि 13 जून तक कोविन पर टीके की 24.84 करोड़ खुराकें दर्ज हुई जिनमें से 19.84 करोड़ खुराकें (करीब 80 फीसदी) उन लोगों को लगाई गई हैं जो कोविन पर पहले से बिना पंजीकरण कराए टीकाकरण केंद्र आए थे.एक मई से 12 जून तक 1,03,585 कोविड टीकाकरण केंद्रों में से 26,114 उप-स्वास्थ्य केंद्रो, 26,287 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और 9,441 सामुदायिक स्वास्थ्य कोंद्रों में संचालित हो रहे हैं. इन सभी स्वास्थ्य केंद्रों में बने टीकाकरण केंद्रों में लोग कोविन पर बिना पंजीकरण कराए टीका लगवाने जा सकते हैं. 

 

 

Spread the information

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Download App


 

Chromecast Setup

 

 

This will close in 10 seconds