एम्स पटना में बच्चों पर वैक्सीन का ट्रायल आज से शुरू होगा। इस ट्रायल में 2 साल से 18 साल तक के बच्चे भाग ले सकते हैं। यहां बच्चों को कोवैक्सीन का डोज लगेगा। दूसरा डोज पहले के चार सप्ताह बाद लगेगा। एम्स अधीक्षक डॉ. सीएम सिंह ने बताया कि कोरोना संक्रमित हो चुके तथा एंटीबॉडी विकसित हो चुके बच्चों को यह डोज नहीं लगेगा।

इसके लिए ट्रायल में आनेवाले सभी बच्चों का आरटीपीसीआर और एंटीबॉडी भी जांच की जाएगी। बताया जा रहा है कि ट्रायल में शामिल बच्चों को 700 रुपये प्रोत्साहन राशि व प्रमाणपत्र भी दिया जाएगा। बताया जा रहा है कि आज से  पूरे देश में बच्चों पर वैक्सीन का ट्रायल शुरू हो रहा है। देशभर में 525 बच्चों पर इसका ट्रायल होगा। इसमें एम्स पटना में 80 बच्चों पर ट्रायल होगा।

बच्चों को ट्रायल में शामिल करने की अपील
एम्स के नोडल ऑफिसर डॉक्टर संजीव ने NBT बिहार को बताया कि कोवैक्सीन का पहला ट्रायल भी पटना एम्स में ही हुआ था और उस अनुभव का फायदा अस्पताल को मिलेगा। उन्होंने कहा कि डीजीसीआई से ट्रायल की हरी झंडी मिलते ही भारत बायोटेक ने पटना एम्स को अनुमति दी है। ट्रायल 1,000 से 2,000 बच्चों पर होगा। एम्स प्रशासन अभिभावकों से बच्चों को ट्रायल में शामिल करने की अपील भी करेगा। स्वदेशी टीका का ट्रायल 18 वर्ष से नीचे के बच्चों पर होगा।

सीडीएससीओ ने भारत बायोटेक के आवेदन पर किया विचार
केन्द्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) की कोविड-19 विषय विशेषज्ञ समिति ने भारत बायोटेक द्वारा किए गए उस आवेदन पर विचार-विमर्श किया था जिसमें उसके कोवैक्सीन टीके की दो साल से 18 साल के बच्चों में सुरक्षा और रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने समेत अन्य चीजों का आकलन करने के लिए परीक्षण के दूसरे/तीसरे चरण की अनुमति देने का अनुरोध किया गया था।

डबल म्यूटेंट पर असरदार है कोवैक्सिन
इससे पहले अमेरिकी अखबार न्यू यॉर्क टाइम्स ने खबर दी थी कि कोवैक्सिन रूप बदलने वाले कोरोना वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी बनाने का काम करती है। कुछ दिनों पहले, तीसरे ट्रायल के नतीजे घोषित करते हुए आईसीएमआर और भारत बायोटेक ने कहा था कि सामान्य कोरोना मरीजों पर कोवैक्सिन टीका 78 फीसदी तक असरदार है।

43,251 व्यक्तियों को दिया गया कोरोना टीका
बिहार में कोरोना टीकाकरण अभियान के तहत गुरुवार को 43,251 व्यक्तियों को कोरोना का टीका दिया गया। इनमें 38,422 व्यक्तियों को कोरोना टीका का पहला डोज और 4829 व्यक्तियों को दूसरा डोज दिया गया। 18 से 44 साल के 20,246 व्यक्तियों को टीका का पहला डोज दिया गया। जबकि 44 से 59 साल के 13,411 व्यक्तियों को पहला डोज और 3146 व्यक्तियों को दूसरा डोज तथा 60 साल से अधिक के 2829 व्यक्तियों को कोरोना टीका का पहला डोज और 1130 व्यक्तियों को दूसरा डोज दिया गया। राज्य में अबतक 1 करोड़ 2 लाख 58 हजार 845 व्यक्तियों को कोरोना टीका दिया जा चुका है। इनमें 82 लाख 94 हजार 960 व्यक्तियों को कोरोना टीका का पहला डोज दिया जा चुका है। जबकि 19 लाख 63 हजार 885 व्यक्तियों को दूसरा डोज दिया जा चुका है। इनमें 18 से 44 साल के 15 लाख 73 हजार 373 व्यक्तियों को अबतक कोरोना टीका का पहला डोज दिया जा चुका है।

Spread the information

Leave a Reply

Your email address will not be published.