दुनिया भर में जंगली जीवों की आबादी पिछले 50 वर्षों में दो तिहाई से ज्यादा घट गई है. कटते जंगलों और कचरे से भरते महासागरों से प्रकृति के कई हिस्से मिट रहे हैं. जल से लेकर जमीन तक वन्यजीवों की रिहाइश हर जगह खतरे में है.

वर्ल्ड वाइल्डलाइफ फंड यानी डब्ल्यूडब्ल्यूएफ के ताजा आंकड़ों के मुताबिक 1970 से लेकर अब तक वन्यजीवों की आबादी करीब 69 प्रतिशत घट गई है. जूलॉजिकल सोसायटी ऑफ लंदन, जेडएसएल के निदेशक एंड्रयू टेरी का कहना है, “यह गंभीर कमी बताती है कि प्रकृति उधड़ रही है और प्राकृतिक दुनिया खाली हो रही है.”

Spread the information

Leave a Reply

Your email address will not be published.