देश के कई राज्यों में गर्मी हमेशा से लोगों के लिए परेशानी का कारण रही है. लू के थपेड़ों और प्रचंड गर्मी के कारण हर वर्ष बड़ी संख्या में लोग मौत के मुंह में समा जाते हैं. इस प्रचंड गर्मी ने देश में पिछले 50 साल में 17,000 से ज्‍यादा लोगों की जान ली है. देश के शीर्ष मौसम वैज्ञानिकों की ओर से प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक साल 1971 से 2019 के बीच लू चलने की 706 घटनाएं हुई हैं.  यह अध्ययन कई लोगों ने मिलकर किया जिसमें पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव एम राजीवन, वैज्ञानिक कमलजीत रे, वैज्ञानिक एसएस रे, वैज्ञानिक आर के गिरी और वैज्ञानिक एपी डीमरी शामिल हैं. 

तीन राज्यों में लू ने मचाई तबाही
देश में ‘लू’ अति प्रतिकूल मौसमी घटनाओं (EWE) में से एक है. अध्ययन के मुताबिक, 50 सालों (1971-2019) में ईडब्ल्यूई ने 1,41,308 लोगों की जान ली है. इनमें से 17,362 लोगों की मौत लू की वजह से हुई है जो कुल दर्ज मौत के आंकड़ों का 12 फीसदी से भी ज्यादा है. स्टडी के मुताबिक देश में लू से सबसे ज्यादा मौतें आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और ओडिशा में हुई हैं. 

इन तीन राज्यों के अलावा पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना उन राज्यों में शुमार हैं जहां भीषण लू के मामले सबसे ज्यादा सामने आते हैं. 

भारत के उत्तरी मैदानों और पर्वतों में भीषण गर्मी पड़ी है और लू चली है. मैदानी इलाकों में इस हफ्ते के शुरुआत में पारा 40 डिग्री से अधिक पहुंच गया है. दिल्ली में पारा इस महीने के पहले हफ्ते में ही पारा 45 डिग्री पार कर गया था. दरअसल, मैदानी इलाकों में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक होने और पर्वतीय इलाकों में 30 डिग्री सेल्सियस से अधिक होने पर किसी इलाके में लू की घोषणा की जाती है.

कब चलती हैं हीटवेव 
जब मैदानी इलाकों का वास्तविक तापमान 40 डिग्री और पहाड़ी क्षेत्रों में यह 30 डिग्री सेल्सियस पहुंच जाता है तो हीटवेव का एलान किया जाता है। तटीय क्षेत्रों में अधिकतम तापमान 40 डिग्री और दूसरी जगहों पर 45 डिग्री हो तो हीटवेव चलती है। 

लू के कारण 
लू का बड़ा कारण वायुमंडल में कार्बन डाइऑक्साइड, मीथेन जैसी ग्रीन हाउस गैसों और पृथ्वी के तापमान में बढ़ोतरी माना जा रहा है। लू से शरीर में डिहाइड्रेशन, ऐंठन, थकान और ताप घात ( हीट स्ट्रोक ) हो जाता है।

 

 

Spread the information

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Download App


 

Chromecast Setup

 

 

This will close in 10 seconds