कोरोना वायरस को लेकर तरह- तरह के अध्ययन देश- दुनिया में चल रहे हैं। आज हम आपको एक अध्ययन के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसमें ये चौंकाने वाला दावा किया जा रहा है कि कोरोना वायरस के कारण मानसिक समस्याएं भी बढ़ने लगी हैं।

आपको बता दें कि भारत में कोरोना वायरस के मामले तीन लाख का आंकड़ा पार कर चुके हैं। रोजाना भारत में हजारों नए मामले सामने आ रहे हैं। राहत की खबर ये है कि कोरोना वायरस से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या भी काफी है। आइए अब बात करते हैं इस शोध कि जिसमें ये दावा किया जा रहा है कि कोरोना वायरस के कारण मानसिक समस्याएं बढ़ने लगी हैं।

  • ऑनलाइन हुए राष्ट्रव्यापी अध्ययन के तहत……
    इस शोध में दावा किया जा रहा है कोरोना वायरस लोगों में मानसिक अवसाद का कारण बनता जा रहा है। ऑनलाइन हुए राष्ट्रव्यापी अध्ययन के तहत ये दावा किया जा रहा है कोरोना वायरस मानसिक समस्याओं का कारण बनता जा रहा है।

इस शोध के अनुसार लोगों से कुछ सवाल पूछे गए, जिनके आधार पर ही ये दावा किया जा रहा है कि कोरोना वायरस मानसिक समस्याओं को भी जन्म दे रहा है।

  • 51.6 प्रतिशत लोग मानसिक समस्याओं से ग्रस्त…….
    इस अध्ययन में जितने भी लोगों से सवाल-जवाब किया गया उनमें से 51.6 प्रतिशत लोग मानसिक समस्याओं से ग्रस्त पाए गए। इनमें से कुछ लोग कम तो कुछ गंभीर मानसिक बीमारियों से परेशान पाए गए।

  • 28 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वो मानसिक तनाव में हैं……..
    इस अध्ययन में लोगों से जब ये पूछा गया कि क्या आप मानसिक समस्याओं से परेशान हैं तो 28 प्रतिशत लोगों ने इसका जवाब हां में दिया। 

लोगों में देखे गए ये लक्षण
इस अध्ययन में लोगों में कुछ ऐसे लक्षण देखे गए जिनसे ये आसानी से समझा जा सकता है कि लोग मानसिक तनाव में हैं। आइए जानते हैं लोगों में क्या लक्षण देखे गए…

  • उत्साह की कमी…..
    इस अध्ययन में ये बात सामने आई कि लोगों में उत्साह ही नहीं है। उत्साह की कमी होना मानसिक अवसाद का ही लक्षण है।
  • खूशी की अनुभूति न होना…….
    इस अध्ययन में ये दावा किया जा रहा है बहुत से लोगों में खुशी की अनुभूति का एहसास ही नहीं हुआ। ऐसा लगा मानो उनके जीवन में कुछ बचा ही नहीं हो। ये भी मानसिक अवसाद का ही लक्षण है।
  • अकेलापन का एहसास…..
    बहुत से लोगों को अकेलेपन का शिकार पाया गया। इस अध्ययन में ये बात भी सामने आई है कि बहुत से खुद को निसहाय समझने लगे हैं।

  • नींद की समस्या…..
    इस अध्ययन के अनुसार बहुत से लोगों में ये देखा गया कि या तो उन्हें बहुत अधिक नींद आ रही है या नींद ही नहीं आ रही है। मानसिक समस्याओं की वजह से नींद की समस्या होना आम बात है।
  • ऊर्जा की कमी……
    इस अध्ययन के अनुसार बहुत से लोगों में ऊर्जी की कमी है। मानसिक अवसाद के कारण बहुत अधिक थकान होने लगती है।
  • भूख की समस्या……
    इस अध्ययन में ये बात भी सामने आई कि बहुत से लोगों ऐसे हैं जिन्हें भूख ही नहीं लग रही है और बहुत से ऐसे भी हैं जिन्हें बहुत ज्यादा भूख लग रही है। शोधकर्ताओं के अनुसार मानसिक समस्याओं के कारण ऐसी समस्याएं होने लगती हैं।
     

Spread the information

Leave a Reply

Your email address will not be published.