झारखंड वासियों के लिए एक बेहद अच्छी खबर सामने आ रही है. नीति आयोग (Niti Aayog)  की नई रिपोर्ट में शिक्षा के मामले में झारखंड (Jharkhand) का जिला दुमका (Dumka) टॉप पर है. आयोग की इस रिपोर्ट ने सबको चौंका दिया है. इस बड़ी खबर की जानकरी नीति आयोग ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल द्वारा दी है. ट्वीट में लिखा गया है कि शिक्षा (Education)  के मामले में देश के टॉप फाइव लिस्ट में सबसे पहले नंबर पर झारखंड की उप राजधानी दुमका है. बाकि अन्य चार जिले बिहार के हैं. 

नीति आयोग ने ट्वीट कर बताया है कि शिक्षा के मामले में जो देश के 5 जिले टॉप फाइव में चुने गए हैं. इनमें पहला नंबर झारखंड की उपराजधानी दुमका का है. वहीं  बाकी चार जिले बिहार के हैं. अक्टूबर महीने में देश के जिन 5 जिलों को शिक्षा के मामले में चैंपियन ऑफ  चेंज के तौर पर देखा जा रहा है उनमें पहले नंबर पर दुमका है, जबकि दूसरे नंबर पर बिहार के मुजफ्फरपुर, तीसरे नंबर पर औरंगाबाद, चौथे नंबर पर बांका और पांचवें नंबर पर बिहार का शेखपुरा जिला शामिल है. शिक्षा के मामले में दुमका ने अक्टूबर महीने में पहला स्थान हासिल कर झारखंड की रैंकिंग में निश्चित तौर पर बड़ा बदलाव किया है.

नीति आयोग ने ट्वीट में आगे कहा,  ‘शिक्षा एक आत्मानिर्भर भारत के कारण को चैंपियन बनाने की कुंजी है. अक्टूबर 2021 के महीने के लिए शिक्षा के क्षेत्र में शीर्ष पांच सबसे बेहतर आकांक्षात्मक जिलों को प्रस्तुत करते हुए बदलाव के चैंपियन को बधाई.’

देश के टॉप फाइव पढ़ाकू जिलों में दुमका टॉप… मुजफ्फरपुर नंबर 2

10  दिसम्बर  शुक्रवार  को ‘डेल्टा रैंकिंग’ जारी करते हुए नीति आयोग ने मुजफ्फरपुर को दूसरे स्थान पर रखा है। इसके बाद औरंगाबाद, बांका और शेखपुरा तीसरे, चौथे और पांचवें स्थान पर हैं। झारखंड में दुमका ने शिक्षा के क्षेत्र में सूची में शीर्ष स्थान हासिल किया है।

जानिए डेल्टा रैंकिंग के बारे में
डेल्टा रैंकिंग को देश के छह विकासात्मक क्षेत्रों में 112 से अधिक महत्वाकांक्षी जिलों की ओर से की गई प्रगति के माप के रूप में मापा गया है। रैंकिंग के लिए स्वास्थ्य और पोषण, शिक्षा, कृषि और जल संसाधन, वित्तीय समावेशन, कौशल विकास और बुनियादी ढांचा विकास क्षेत्रों को ध्यान में रखा गया था। इस रैंकिंग के साथ नीति आयोग ने ट्वीट किया कि ‘शिक्षा एक आत्मानिर्भर भारत के कारण को चैंपियन बनाने की कुंजी है। अक्टूबर 2021 के महीने के लिए शिक्षा के क्षेत्र में शीर्ष पांच सबसे बेहतर आकांक्षात्मक जिलों को प्रस्तुत करते हुए बदलाव के चैंपियन को बधाई।’

नई रिपोर्ट से बिहार बमबम
राज्य के शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजय कुमार ने शनिवार को बताया कि विभाग की सर्वोच्च प्राथमिकता यह सुनिश्चित करना है कि हर हाई स्कूल का अपना भवन और बुनियादी ढांचा हो। इनके मुताबिक ‘हम शिक्षकों की उपलब्धता के रूप में एचआर मुद्दों का आकलन कर रहे हैं, खासकर माध्यमिक विद्यालयों में। स्कूलों में प्रभावी और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए पुस्तकालय की किताबें, स्मार्ट क्लास और आईसीटी केंद्र स्थापित किए गए हैं।

अक्टूबर महीने में देश के जिन 5 जिलों को शिक्षा के मामले में चैंपियंस ऑफ चेंज के तौर पर देखा जा रहा है. उन्हें पहले नंबर पर जहां झारखंड का दुमका है. वहीं दूसरे नंबर पर बिहार का मुजफ्फरपुर, तीसरे नंबर पर औरंगाबाद, चौथे नंबर पर बांका और पांचवें नंबर पर बिहार का शेखपुरा जिला शामिल है.शिक्षा के मामले में इन 4 जिलों ने अक्टूबर महीने में टॉप फाइव में जगह बनाकर बिहार की रैंकिंग (Bihar Ranking In NITI Aayog) में निश्चित तौर पर बड़ा बदलाव किया है.

 

 

 

Spread the information

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Download App


 

Chromecast Setup

 

 

This will close in 10 seconds