Category: अध्ययन

शोध : अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में बड़ी कामयाबी, अब हवा की नमी से जल्द बनेगी बिजली

अमृत चंद्र वैज्ञानिकों ने ऐसी तकनीक विकसित कर ली है, जो आर्द्र हवा से बिजली बनाएगी. वैज्ञानिकों को उम्‍मीद है…

शोध : एक सप्ताह में क्रेडिट कार्ड के बराबर माइक्रोप्लास्टिक्स निगल लेता है इंसान, स्वास्थ्य के लिए है घातक

ललित मौर्य हम इंसान अपनी सांस के जरिए हर घंटे माइक्रोप्लास्टिक्स के करीब 16.2 कण निगल सकते हैं। निगले गए…

अध्ययन : 40 वर्ष की उम्र में इंसानी दिमाग में होते हैं बड़े बदलाव, अनुभव से बदलने लगती है मस्तिष्क की संरचना

अमृत चंद्र वैज्ञानिक इंसानी दिमाग से जुड़ी गुत्थियों को सुलझाने के लिए लगातार शोध कर रहे हैं. अब एक नए…

खोज : वैज्ञानिकों ने विकसित की नई तकनीक, अब नमी वाली हवा से होगी बिजली की ‘खेती’, मिलेगी अनंत ऊर्जा

विकास शर्मा वैज्ञानिकों ने एक ऐसा उपकरण तैयार किया है जिससे तब तक लगातार बिजली पैदा की जा सकती है…

अध्ययन : सन् 2050 तक विश्व भर के 84 करोड़ से भी अधिक लोगों को हो सकती है कमर दर्द की शिकायत

भूपेंद्र पांचाल अध्ययन से पता चला है कि 2017 के बाद से वैश्विक स्तर पर कमर दर्द का सामना कर…

जी हां, भारत में है जिंदा पेड़ों की जड़ों से बना दुनिया का सबसे मजबूत पुल जो अपनी मरम्मत खुद कर लेता है

अमृत चंद्र भारत के पूर्वोत्‍तर में खासी और जयंतिया जनजात‍ि के लोग जिंदा पेड़ों की जड़ों से पुल बनाने में…

अध्ययन : विकास की अंधी दौड़ का सच, गगनचुंबी इमारतों के भारी दबाव में धंसने लगे हैं अमेरिकी शहर

अमृत चंद्र  दुनिया के कई शहर विकास की अंधी दौड़ के बोझ तले धीरे-धीरे डूब रहे हैं. एक अध्‍ययन में…

प्रतिबंध के बावजूद नहीं रुक पा रहा ग्लोबल वार्मिंग के लिए जिम्मेदार क्लोरोफ्लोरोकार्बन गैस का उत्सर्जन, रिकार्ड स्तर पर पहुंचा

दयानिधि धरती को सूर्य से बचाने वाली ओजोन परत को कमजोर करने वाली क्लोरोफ्लोरोकार्बन पर दुनिया भर में प्रतिबंध लगा…

देश में कुल सीवेज का सिर्फ 28% ही ट्रीट हो रहा, बाकी गंदे प्रदूषित पानी को ऐसे ही नदियों, झीलों में छोड़ा जा रहा है

ललित मौर्य देश में जैसे-जैसे आबादी बढ़ रही है, उसके साथ पानी की मांग भी दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है। पानी…

खाने की गुणवत्ता एवं न्यूट्रिशन लेबलिंग के बारे में जागरूकता है बेहद जरूरी, भारतीय बच्चे एवं अभिभावक हैं इसमें काफी पीछे

ललित मौर्या बच्चे आने वाले कल का भविष्य हैं, लेकिन यह भविष्य कितना स्वस्थ होगा, यह इस बात पर निर्भर…